Latest Online Hindi News

Find all the latest, current & trending news related to business, sports, politics & many more only on Nayaindia ePaper. Read for the Breaking News!


Leave a comment

जियो के इंटरनेट डाटा की दरें उतरी जमीन पर, मुफ्त बातचीत बनी हकीकत

मोबाइल दूरसंचार बाजार में उथल-पुथल मचाने वाली रिलायंस जियो के कारोबार के पहले दो साल में देश में मोबाइल इंटरनेट की दरों में तीव्र गिरावट और इसके इस्तेमाल में उल्लेखनीय विस्तार दिखा। कंपनी ने बुधवार को अपने कारोबार का दूसरा साल पूरा किया। विश्लेषणों के मुताबिक इन दो वर्षों दौरान भारत में मोबाइल डाटा का इस्तेमाल 20 करोड़ गीगाबाइट (जीबी) से बढ़ कर करीब 370 करोड़ जीबी तक पहुंच गया। इसका मुख्य वजह मोबाइल डाटा का सस्ता होना बताया जा रहा है।

Reliance Jio

जियो के आने के बाद भारत मुफ्त मोबाइल काल भी एक हकीकत बनी। जियो ने पहली बार अपने ग्राहकों को असीमित मुफ्तकाल की सुविधा दी और प्रतिस्पर्धा के चलते बाजार में दूसरे सेवा प्रदाताओं ने भी इस तरह के प्लान पेश किया।विश्लेषकों के अनुसार रिलायंस जियो के आने से ठीक पहले भी एक जीबी डाटा 250 रुपए प्रति जीबी के आस-पास पड़ता था। आज यह दर 15 रुपए के आस-पास है।रिलायंस जियो के एक सूत्र ने कहा, ‘‘जियो के आने के बाद डाटा बाजार में असली लोकतंत्र आया है। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें @ https://bit.ly/2wNAxQT

Advertisements


Leave a comment

जियो इंस्टीट्यूट’ के लिए सरकार की घेराबंदी

रिलायंस के प्रस्तावित जियो इंस्टीट्यूट को केन्द्र सरकार द्वारा देश के छह प्रतिष्ठित संस्थानों की सूची में शामिल किए जाने को विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अंबानी बंधुओं से करीबी रिश्तों का परिणाम बताया है। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने जियो संस्थान को देश को प्रतिष्ठित संस्थानों की सूची में डालने की तुलना उद्योगपतियों की कर्ज माफी से की।

Reliance Jio Institute

येचुरी ने ट्वीट कर कहा ‘‘अब तक वजूद में ही नहीं आये विश्वविद्यालय को प्रतिष्ठित संस्थान का तमगा देना कार्पोरेट जगत के तीन लाख करोड़ रुपये के गैरनिष्पादित कर्ज की तरह है जिसे सरकार ने चार साल में उद्योगपतियों से अपनी मित्रता निभाने के एवज में बट्टेखाते में डाल दिया।’’ सपा ने सरकार के इस फैसले को अंबानी बंधुओं से मोदी की नजदीकी का परिणाम बताया। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें । @ https://bit.ly/2N4jNeI


Leave a comment

थॉमसन के स्मार्ट टेलीविजन भारतीय बाजार में

यूरोप की प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक और घरेलू उपकरण कंपनी थॉमसन ने अप्रैल में स्मार्ट टेलीविजन के साथ भारतीय बाजार में पुनर्प्रवेश करने की घोषणा की है। कंपनी ने आज यहां जारी बयान में यह घोषणा करते हुये टेक्नीकलर एसए की स्वामित्व वाली यह कंपनी ई कॉमस पोर्टल के जरिये बाजार में प्रवेश करेगी और स्मार्ट टेलीविजन की अपनी रेंज लाएगी।

electronic-company-thomson

उसने कहा कि अगले महीने से ई कॉमर्स के जरिये उसके स्मार्ट टेलीविजन भारतीय ग्राहकों के लिए उपलब्ध होंगे। 120 साल से ज्यादा की विरासत के साथ यह फ्रेंच कॉरपोरेशन दुनिया भर में लाइसेंसिंग साझेदारों के साथ काम करता है। भारत में भी यह एक खास लाइसेंसिंग करार के तहत रहेगा और इसका एक स्थानीय सहयोगी होगा। @ https://goo.gl/up7kJg


Leave a comment

रिलायंस ‘ड्राइवर्स ऑफ चेंज’ पुरस्कार से सम्मानित

भारतीय अरबपति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को भारत में नवोन्मेष के जरिये परिवर्तन लाने के लिए ‘ड्राइवर्स ऑफ चेंज’ पुरस्कार से नवाजा गया है। श्री अंबानी ने देर रात लंदन में आयोजित एक कार्यक्रम में यह पुरस्कार ग्रहण किया। कंपनी द्वारा आज जारी विज्ञप्ति के मुताबिक ‘फाइनेंसियल टाइम्स आर्सेलर मित्तल बोल्डनेस इन बिजनेस अवार्ड समारोह’ में यह पुस्कार प्रदान किया गया। इस श्रेणी में छह कंपनियों को चयनित किया गया था लेकिन आखिर में यह पुरस्कार रिलांयस को मिला।

Reliance Industries

हाइड्रोकार्बन उत्पादन, पेट्रोलियम रिफाइनिंग और विपणन, पेट्रोकेमिकल, रिटेल और 4जी डिजिटल सेवा में कंपनी के नवोन्मेष आधारित विकास को देखते हुए इस पुरस्कार के लिए चुना गया है। पुरस्कार ग्रहण करने के बाद श्री अंबानी ने धन्यवाद देते हुए कहा,” यह पुरस्कार जियो के एक लाख से अधिक युवा सहकर्मियों का है, जो भारत में बदलाव के सबसे सशक्त सूत्रधार हैं। जियो भारत में डिजिटल सेवाओं में बदलाव को लेकर प्रतिबद्ध है। यह पुरस्कार भारत को बेहतर भारत बनाने और विश्व को बेहतर विश्व बनाने की हमारी प्रतिबद्धता को और मजबूत करेगा। ” श्री अंबानी ने बताया कि जियो का आइडिया उनकी बेटी ईशा ने 2011 में दिया था। उल्लेखनीय है कि इससे पहले डीपमाइंड टेक्नोलॉजी, एचबीओ,अलीबाबा, अमेजन, एप्पल और फिएट को भी इस पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें @ http://bit.ly/2G04NOV


Leave a comment

ट्रेंड्स पर मिलेंगे फ्लोरमर के सौंदर्य प्रसाधन उत्पाद

मुकेश अंबानी की रिलायंस रिटेल ने इटली के प्रमुख सौंदर्य प्रसाधन ब्रांड फ्लोरमर के साथ समझौता किया है, जिसके तहत उसके उत्पाद देश में बेचे जायेंगे। फ्लोमर के उत्पाद रिलायंस रिटेल की परिधान उपलब्ध कराने वाली श्रृंखला “ट्रेंड्स” पर उपलब्ध होंगे।

फ्लोरमर के उत्पाद उतारे जाने के मौके पर कल शाम यहां एंबियंस माल में आयोजित कार्यक्रम में ट्रेंड्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अखिलेश प्रसाद ने कहा सौंदर्य और फैशन एक दूसरे के पूरक हैं और दोनों कंपनियों की इस दिशा में की गई शुरुआत से एक ही स्थान पर उत्पाद उपलब्ध होने से ग्राहकों को सुविधा होगी।

cosmetics-products

उन्होंने कहा कि ट्रेंड्स के देश भर के 220 शहरों में 434 स्टोर हैं । फ्लोरमर के साथ आने से मूल्यों और ब्रांड के बीच बेहतर तालमेल होगा। फ्लोरमर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने रिलायंस रिटेल के साथ अपने उत्पादों को बेचने के लिए हुए समझौते पर खुशी जाहिर करते हुए हमारे उत्पादों को विश्व में काफी पसंद किया जाता है। कंपनी के उत्पाद भारत समेत 104 देशों में उपलब्ध हैं। @ http://bit.ly/2oTipll


Leave a comment

यस बैंक की बांड के जरिए 3,000 करोड़ रुपए जुटाने की योजना

निजी क्षेत्र के यस बैंक ने आज कहा कि उसकी पूंजी-उगाही समिति ने तीन हजार करोड़ रुपए जुटाने की मंजूरी दी है। बैंक ने बंबई शेयर बाजार (बीएसई) को बताया निदेशक मंडल की पूंजी-उगाही समिति ने डिबेंचर के तौर पर 10 लाख सूचीबद्ध, गैर-परिवर्तनीय, भुनाने योग्य, असुरक्षित बांड जारी कर तीन हजार करोड़ रुपए जुटाने की मंजूरी दी है।

yes bank

बैंक को जून में शेयरधारकों से ऋणपत्रों के जरिए 20 हजार करोड़ रुपए तक की पूंजी जुटाने की मंजूरी मिली थी। बीएसई में यस बैंक के शेयर 0.87 प्रतिशत की गिरावट में 306.60 रुपए पर रहे। @ https://goo.gl/J4YyjG


Leave a comment

प्रत्यक्ष कर संग्रह 18.7 फीसद बढ़कर 6.89 लाख करोड़ पहुंचा

चालू वित्त वर्ष में 15 जनवरी तक प्रत्यक्ष कर संग्रह पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि की तुलना में 18.7 प्रतिशत बढ़कर 6.89 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

आधिकारिक जानकारी के अनुसार, चालू वित्त वर्ष में प्रत्यक्ष कर के रूप में 9.8 लाख करोड़ रुपये के बजट संग्रह का अनुमान है। इस साल 15 जनवरी तक बजट अनुमान का 70.3 प्रतिशत प्रत्यक्ष कर संग्रह हो चुका है। अप्रैल से 15 जनवरी तक सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह 8.11 लाख करोड़ रुपये रहा जो पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में संग्रहित राशि की तुलना में 13.5 प्रतिशत अधिक है। इस अवधि में 1.22 लाख करोड़ रुपये का रिफंड दिया गया है।

Tax

बयान में कहा गया है कि प्रत्यक्ष कर संग्रह में चालू वित्त वर्ष में लगातार सुधार जारी है। पहली तिमाही में सकल प्रत्यक्ष कर संग्रह में 10 प्रतिशत, दूसरी तिमाही में 10.3 प्रतिशत, तीसरी तिमाही में 12.6 प्रतिशत और चालू तिमाही में 15 जनवरी तक 13.5 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गयी है। इसी तरह से इन तिमाहियों में शुद्ध प्रत्यक्ष कर संग्रह में क्रमश: 14.8 प्रतिशत, 15.8 प्रतिशत, 18.2 प्रतिशत और 18.7 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। @ https://goo.gl/GPyf31