Latest Online Hindi News

Find all the latest, current & trending news related to business, sports, politics & many more only on Nayaindia ePaper. Read for the Breaking News!


Leave a comment

जानिए ट्रंप की सीरिया पर आक्रामक कार्रवाई।

अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस ने एक सयुंक्त कार्रवाई में सीरिया के कई ठिकानों पर हमले किए। बताया जाता है कि वे ठिकाने रासायनिक हथियारों के अड्डे थे। ये हमला बीते हफ़्ते सीरियाई कस्बे दूमा में हुए संदिग्ध रासायनिक हमले की प्रतिक्रिया के रूप में किया गया। पेंटागन स्थित एक अमेरिकी अधिकारी के मुताबिक़ जिन सीरियाई ठिकानों पर हमला किया गया, उनमें शामिल हैं- दमिश्क में स्थित एक वैज्ञानिक शोध संस्थान जो कथित रूप से रासायनिक और जैविक हथियारों के उत्पादन से जुड़ा था। होम्स शहर के पश्चिमी इलाके में स्थित रासायनिक हथियारों को रखने का ठिकाना। होम्स शहर में एक अहम सैन्य ठिकाना जहां रासायनिक हथियारों से जुड़ी सामग्री को रखा जाता था।

trump

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि फ्रांस और ब्रिटेन की सशस्त्र सेनाओं के साथ एक साझा ऑपरेशन चला। इसका उद्देश्य रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल, प्रसार और उत्पादन पर अंकुश लगाना है। सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद के कृत्यों के बारे में अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा- ये किसी इंसान नहीं, बल्कि एक शैतान के अपराध हैं। उधर ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि उसकी ओर से चार टोरनाडो जेट्स ने होम्स शहर के नज़दीक स्थित के सैन्य ठिकाने पर हमला किया। ऐसा माना जाता है कि इस ठिकाने पर रासायनिक हथियारों से जुड़ी सामग्री रखी जाती थी।अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें। @ https://bit.ly/2HB2ujL

Advertisements


Leave a comment

शहनाज हुसैन का बिजनेस मॉडल हावर्ड में पढ़ाया जाएगा

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन द्वारा विज्ञापन या प्रचार के बिना शहनाज हुसैन ब्रांड को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विकसित करने के लिए इस केस स्टडी को प्रतिष्ठित हावर्ड बिजनेस स्कूल वास्टन के पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। तो अब शहनाज हुसैन ब्रांड की सफलता की गाथा हावर्ड बिजनेस स्कूल के छात्रों को पढ़ाई जाएगी। हावर्ड बिजनेस स्कूल के प्रोफेसर सुनील गुप्ता द्वारा शहनाज हुसैन के वीडियो इंटरव्यू ‘क्रीएटिंग इमरजिंग मार्केट’ को बिजनेस स्कूल के प्रश्न-उत्तर प्रारूप में पाठ्यक्रम में सम्मिलित किया गया है। वीडियो इंटरव्यू में शहनाज हुसैन ने नियमित मार्केटिंग विज्ञापन तथा प्रचार के बिना मात्र उत्पाद की गुणवत्ता के आधार पर अंतर्राष्ट्रीय ब्रांड स्थापित करने के बारे में बताया है।

shehnaz-hussain222

हावर्ड में पढ़ाए जाने के मुद्दे पर शहनाज हुसैन ने कहा कि उन्हें अपनी सफलता की कहानी को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छात्रों को पढ़ाने के लिए चयनित किए जाने से अत्यंत प्रसन्नता हुई है। उन्होंने कहा कि भारत की 3000 पुरानी सभ्यता पर आधारित आयुर्वेदिक सूत्रों को वह विश्वभर में भारत के विकास गाथा के रूप में प्रस्तुत करेंगी। वर्तमान सौंदर्य बाजार में प्रतिस्पर्धा के बावजूद शहनाज हुसैन के आयुर्वेदिक उत्पाद बिना किसी व्यापारिक विज्ञापन के उत्पादों के गुणवत्ता के आधार पर ही धड़ल्ले से मार्केट में बिक रहे हैं। 400 अंतर्राष्ट्रीय फ्रेंचाइजी तथा 600 डिस्ट्रीब्यूटरों के माध्यम से विश्व के अनेक देशों में विशुद्ध आयुर्वेदिक उत्पाद बेचे जा रहे हैं। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने वर्ष 1980 में ‘फेस्टिवल ऑफ इंडिया’ में उन्हें एंट्री प्रदान करके अंतर्राष्ट्रीय मंच प्रदान किया था। पूरा विश्व जब रासायनिक उत्पादों के हानिकारक प्रभावों से त्रस्त था उस समय शहनाज हुसैन ने भारत की प्राचीन सभ्यता पर आधारित आयुर्वेदिक उत्पादों को बाजार में उतारा जिसे पूरे विश्व में शहनाज हुसैन ब्रांड के नाम से हाथों हाथ लिया गया। अधिक जानकारी के  लिए क्लिक करें @ goo.gl/PgTTNh


Leave a comment

उबर के सीईओ ने छोड़ी ट्रंप की सलाहकार परिषद

अमेरिका की एप आधारित टैक्सी कंपनी उबर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ट्रैविस कलानिक ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सलाहकार परिषद से इस्तीफा दे दिया है। न्यूयार्क पोस्ट की खबर के मुताबिक, कलानिक ने गुरुवार को उबर कर्मचारियों को भेजे एक ईमेल में इसकी जानकारी दी। कलानिक ने कर्मचारियों को संबोधित कर कहा कि गुरुवार मेरी राष्ट्रपति से आव्रजन संबंधी कार्यकारी आदेश और इससे हमारे समुदाय के समक्ष समस्याओं पर बात हुई।

uber-300x225

कलानिक ने कहा कि मैंने उन्हें यह भी बताया कि मैं इस आर्थिक परिषद का हिस्सा नहीं बन पाऊंगा। समूह का हिस्सा बनना राष्ट्रपति या उनके एजंडे का समर्थन करना नहीं है लेकिन दुर्भाग्यवश इसे इसी संदर्भ में समझा जा रहा है। उबर के सीईओ को पिछले कुछ दिनों में ट्रंप प्रशासन के लिए काम करने की वजह से अत्यधिक आलोचना का सामना करना पड़ा है। उग्र ग्राहकों ने ‘डिलीट उबर मूवमेंट’ शुरू किया है। अधिक जानकारी के  लिए क्लिक करें @ goo.gl/Oah1Dj


Leave a comment

श्रीलंका में लागू हुआ आरटीआई कानून

भ्रष्टाचार और कुशासन से त्रस्त श्रीलंका में पारदर्शिता और सुशासन बहाल करने के उद्देश्य से आज सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून लागू किया गया । सरकार ने गत सप्ताह राजपत्र में आरटीआई के दायरे में आने वाले सरकारी प्राधिकरणों की श्रेणियां प्रकाशित की थीं।

sri-lanka

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल श्रीलंका चैप्टर (टीआईएसएल) के आरटीआई प्रबंधक सांखित गुणारत्ने ने कहा, आज से आम लोग जो भी सूचना चाहते हैं, उसके लिए आवेदन कर सकते हैं। सभी सूचनाओं का खुलासा तभी किया जा सकता है अगर उसके खुलासे से में लोगों का हित जुडा हो। टीआईएसएल ने कहा कि वह संबंधित सरकारी प्राधिकरणों में जनहित के कई आरटीआई आवदेनों को दायर करेगी जिसमें राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की संपत्तियों और दायित्वों की जानकारी और चुनाव आयोग से राजनीतिक दलों की वित्तीय रिपोटरें की सूचना मांगने वाला आवदेन भी शामिल है। अधिक जानकारी के  लिए क्लिक करें @ goo.gl/oixwBW